अगर आपके पास LIC की पॉलिसी है तो आपको बहुत कम ब्याज दर पर पर्सनल लोन मिल सकता है. अगर आप LIC से पर्सनल लोन के लिए आवेदन कर रहे हैं तो पहले पॉलिसी की कैश वैल्यू के बारे में जरूर जान लीजिए.
अगर आपको पॉलिसी मैच्योर होने से पहले रकम की जरूरत है तो LIC पॉलिसी को सरेंडर करना समझदारी नहीं है क्योंकि इस बीच में इसकी वैल्यू बहुत कम होती है. इस रकम के बदले मिलने वाला लोन भी कम रकम का ही होगा.

LIC की पॉलिसी के बदले लोन लेने के फायदे

  • आपको कैश वैल्यू या सरेंडर वैल्यू के बदले लोन मिल जाता है.
  • आप पॉलिसी के कैश वैल्यू का 90% तक लोन ले सकते हैं.
  • आपकी LIC पॉलिसी पर लोन के बाद बीमा पॉलिसी कंपनी के पास गिरवी की तरह रहती है.
  • LIC आपको पॉलिसी के बदले सिर्फ 10% ब्याज पर लोन देती है.
  • अगर आप तय समय पर लोन का ब्याज नहीं चुकाते तो ब्याज की रकम मूलधन में जोड़ दी जाती है.

LIC पॉलिसी के बदले लोन कौन ले सकता है?
LIC पॉलिसी के बदले लोन लेने की योग्यता यह है:
आप भारतीय नागरिक हों.
आपने LIC की पॉलिसी खरीदी हो.
आपने लोन के लिए आवेदन करने से पहले कम से कम तीन साल तक प्रीमियम भरा हो.
आपकी उम्र 18 साल से अधिक हो.
आप पॉलिसी के सरेंडर वैल्यू के अधिकतम 90% तक लोन ले सकते हैं.
अगर आपकी LIC पॉलिसी पेडअप है तो आप सरेंडर वैल्यू के 85% तक ही लोन ले सकते हैं.